सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

संदेश

नवंबर, 2020 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

माइक्रोसॉफ्ट वर्ड में रिज्यूमे कैसे बनाये ?

  How to Make Resume in Microsoft Word ? नौकरी में आवेदन करते समय रिज्यूमे (Resume) देना एक आम बात हैं | ये एक आवश्यक प्रकिया हैं जो सभी नौकरियों में आवेदन करते समय अपनायी जाती हैं | प्राय सभी के सामने ये समस्या आती हैं की ऐसा रिज्यूमे (Resume) आखिर कैसे बनाये जो प्रभावशाली हो और हमारी जॉब स्किल्स (Job Skills) को सही तरीके से प्रस्तुत कर सके |   माइक्रोसॉफ्ट वर्ड (Microsoft Word) हमें हमें रिज्यूमे बनाने की सुविधा प्रदान करता हैं | इसमें हमें पूर्व-निर्धारित टेम्पलेट्स (Tamplates) मिलते है जहाँ से हम रिज्यूमे बना सकते हैं लेकिन इसके लिए हमारे कंप्यूटर में इन्टरनेट (Internet) की सुविधा होनी आवश्यक हैं | इन पूर्व-निर्धरित टेम्पलेट्स (Tamplates) में हमें सिर्फ एडिटिंग (Editing) करनी होती हैं यानि दिए गए निर्धारित फील्ड्स (Fields) में हमें सिर्फ अपनी जानकारी, अपनी शैक्षणिक योग्यता (Education Qulification), अपने अनुभव (Experiences) इत्यादि के बारे में टाइप करना हैं |   माइक्रोसॉफ्ट वर्ड में रिज्यूमे (Resume) बनाना   रिज्यूमे बनाने के लिए हम एमएस वर्ड (MS Word) में होम टैब (Home Tab) के बाय

टैली ERP 9 में जीएसटी लेज़र कैसे क्रिएट करे ?

  How to create ledger for GST in tally ERP 9 ? जीएसटी (GST) की शुरुआत भारत सरकार द्वारा जुलाई 2017 में की गयी थी | यह एक इनडायरेक्ट टैक्स हैं जो वस्तुओं (Goods) और सेवाओं (Services) पर लगाया जाता हैं | जीएसटी (GST) के बारे में हम अधिक जानकारी जीएसटी रेट लिस्ट (GST Rate List) वाले लेख में दे चुके हैं |   आइये अब हम टैली ERP 9 में जीएसटी के लिए लेज़र क्रिएशन के बारे में जाने | जीएसटी के लिए लेज़र ड्यूटीज एंड टैक्सेज (Duties and Taxes) के अंतर्गत बनायीं जाती हैं |   टैली ERP 9 में लेज़र क्रिएट करने के लिए हम गेटवे   ऑफ़ टैली (Gateway of Tally) में एकाउंट इन्फो (Account Info) विकल्प पर क्लिक करेंगे | एक सब-मेन्यु (Sub-Menu) स्क्रीन पर दिखाई देगा | यहां हमें लेज़र क्रिएशन का ऑप्शन मिलेगा | हम दो प्रकार से लेज़र क्रिएशन कर सकते हैं सिंगल लेज़र (Single Ledger) और मल्टीपल लेज़र (Multipal Ledger) | आमतौर पर सिंगल लेज़र का ही प्रयोग ज्यादा होता हैं लेकिन हम संशिप्त में मल्टीपल लेज़र क्रिएशन करना भी सीखेंगे | जीएसटी (GST) लेज़र क्रिएशन सिंगल लेज़र (Single Ledger) सिंगल लेज़र ग्रुप में क्रिएट (Create) ऑप

टैली ERP 9 में इनडायरेक्ट एक्स्पेंसेज़ लेज़र कैसे क्रिएट करे ?

  How to create indirect expenses ledger in tally ERP 9 ? वह सभी एक्स्पेंसेज़ (Expenses) जो डायरेक्ट एक्स्पेंसेज़ से अलग होते हैं या जो इसके अंतर्गत नहीं आते उन्हें हम इनडायरेक्ट एक्स्पेंसेज़ (Indirect Expenses) के अंतर्गत रखते हैं | इन एक्स्पेंसेज़ का व्यवसाय के अंतर्गत वस्तुओं या सेवाओं को खरीदने (Purchase) अथवा बेचने (Sales) से सीधा संबंध नहीं होता उदहारण के लिए बिल्डिंग रेंट (Bulding Rent), कार्य करने वाले लोगों की सैलरी (Salaries of employees), लीगल चार्जेज (Leagel Charges), बीमा (Insurance) प्रिंटिंग चार्जेज (Printing Charges) इत्यादि |   आइये अब हम टैली ERP 9 में इनडायरेक्ट एक्स्पेंसेज़ (Indirect Expenses)   लेज़र क्रिएशन के बारे में जाने | टैली ERP 9 में लेज़र क्रिएट करने के लिए हम गेटवे   ऑफ़ टैली (Gateway of Tally) में एकाउंट इन्फो (Account Info) विकल्प पर क्लिक करेंगे | एक सब-मेन्यु (Sub-Menu) स्क्रीन पर दिखाई देगा | यहां हमें लेज़र क्रिएशन का ऑप्शन मिलेगा | हम दो प्रकार से लेज़र क्रिएशन कर सकते हैं सिंगल लेज़र (Single Ledger) और मल्टीपल लेज़र (Multipal Ledger) | आमतौर पर सिंगल लेज़र

टैली ERP 9 में डायरेक्ट एक्सपेंसेस लेज़र कैसे क्रिएट करे ?

  How To Create Direct Expenses Ledger In Tally ERP 9 ? टैली ERP 9 में लेज़र क्रिएट करने के लिए हम गेटवे   ऑफ़ टैली (Gateway of Tally) में एकाउंट इन्फो (Account Info) विकल्प पर क्लिक करेंगे | एक सब-मेन्यु (Sub-Menu) स्क्रीन पर दिखाई   देगा | यहां हमें लेज़र क्रिएशन का ऑप्शन मिलेगा | हम दो प्रकार से लेज़र क्रिएशन कर सकते हैं सिंगल लेज़र (Single Ledger) और मल्टीपल लेज़र (Multipal Ledger) | आमतौर पर सिंगल लेज़र का ही प्रयोग ज्यादा होता हैं लेकिन हम संशिप्त में मल्टीपल लेज़र क्रिएशन करना भी सीखेंगे | आइये टैली की प्रमुख लेज़र क्रिएशन के बारे में जाने | डायरेक्ट एक्सपेंसेस (Direct Expenses) सिंगल लेज़र (Single Ledger) सिंगल लेज़र ग्रुप में क्रिएट (Create) ऑप्शन पर क्लिक करे अथवा की-बोर्ड पर (C) की (Key) दबाये | स्क्रीन पर लेज़र क्रिएशन विंडो ओपन (Open) हो जाएगी | यहां हमें निम्न ऑप्शंस (Options) दिखाई देंगे:   1.     नेम (Name): यहां हम उस खाते  का नाम टाइप करेंगे जिसे हम डायरेक्ट एक्सपेंस के अंतर्गत लेना चाहते हैं जैसे , फेयर ( Fair), कैरिज ( Carriage), फ़ैक्ट्री रेंट ( Factory Rent) इत्यादि। 2.    

टैली ERP 9 में सेल्स लेज़र कैसे क्रिएट करे ?

  How To Create Sales Ledger In Tally ERP 9 ? टैली ERP 9 में लेज़र क्रिएट करने के लिए हम गेटवे   ऑफ़ टैली (Gateway of Tally) में एकाउंट इन्फो (Account Info) विकल्प पर क्लिक करेंगे | एक सब-मेन्यु (Sub-Menu) स्क्रीन पर  दिखाई  देगा | यहां हमें लेज़र क्रिएशन का ऑप्शन मिलेगा | हम दो प्रकार से लेज़र क्रिएशन कर सकते हैं सिंगल लेज़र (Single Ledger) और मल्टीपल लेज़र (Multipal Ledger) | आमतौर पर सिंगल लेज़र का ही प्रयोग ज्यादा होता हैं लेकिन हम संशिप्त में मल्टीपल लेज़र क्रिएशन करना भी सीखेंगे | आइये टैली की प्रमुख लेज़र क्रिएशन के बारे में जाने | सेल्स लेज़र (Sales Ledger) सिंगल लेज़र (Single Ledger) सिंगल लेज़र ग्रुप में क्रिएट (Create) ऑप्शन पर क्लिक करे अथवा की-बोर्ड पर (C) की (Key) दबाये | स्क्रीन पर लेज़र क्रिएशन विंडो ओपन (Open) हो जाएगी | यहां हमें निम्न ऑप्शंस (Options) दिखाई देंगे: 1.     नेम (Name): यहां हम खातेदार का नाम टाइप करेंगे यानी वह व्यक्ति या फर्म जिसे हम वस्तुएं (Goods) या सेवाएं (Services) बेच (Sale) रहे हैं | 2.     एलियास (Alias): यहां हम खातेदार का उपनाम टाइप कर सकते हैं |

टैली ERP 9 में परचेज लेज़र क्रिएट कैसे करे ? How to create purchase ledger in tally ERP 9 ?

  टैली ERP 9 में परचेज लेज़र क्रिएट कैसे करे ? How to create purchase ledger in tally ERP 9 ?   टैली ERP 9 में लेज़र क्रिएट करने के लिए हम गेटवे  ऑफ़ टैली (Gateway of Tally) में एकाउंट इन्फो (Account Info) विकल्प पर क्लिक करेंगे | एक सब-मेन्यु (Sub-Menu) स्क्रीन पर दिखाई  देगा | यहां हमें लेज़र क्रिएशन का ऑप्शन मिलेगा | हम दो प्रकार से लेज़र क्रिएशन कर सकते हैं सिंगल लेज़र (Single Ledger) और मल्टीपल लेज़र (Multipal Ledger) | आमतौर पर सिंगल लेज़र का ही प्रयोग ज्यादा होता हैं लेकिन हम संशिप्त में मल्टीपल लेज़र क्रिएशन करना भी सीखेंगे |             आइये टैली की प्रमुख लेज़र क्रिएशन के बारे में जाने | परचेज लेज़र (Purchase Ledger) सिंगल लेज़र (Single Ledger) सिंगल लेज़र ग्रुप में क्रिएट (Create) ऑप्शन पर क्लिक करे अथवा की-बोर्ड पर (C) की (Key) दबाये | स्क्रीन पर लेज़र क्रिएशन विंडो ओपन (Open) हो जाएगी | यहां हमें निम्न ऑप्शंस (Options) दिखाई देंगे:   नेम (Name): यहां हम खातेदार का नाम टाइप करेंगे यानी वह व्यक्ति या फर्म जिससे हम वस्तुएं खरीद रहे हैं | . एलियास (Alias): यहां हम खातेदा

जीएसटी (गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स) रेट लिस्ट

GST (Good and Service Tax) Rate List GST यानी गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स | ये भारत सरकार द्वारा प्रोडक्ट (Product) और सर्विसेज (Services) की खरीद पर लगाया जाता हैं | ये हमारे ऊपर लगने वाला एक इनडायरेक्ट टैक्स (Indirect Tax) हैं | इसे जुलाई 2017 में लागू किया गया था और तब से लेकर अबतक इसकी दरो में कई बार परिवर्तन किये जा चुके हैं | इससे पहले वेट (VAT) सर्विस टैक्स जैसे कई तरह के टैक्स लगाये जाते थे जिन्हें अब जीएसटी के अंतर्गत ही सम्मिलित कर लिया गया हैं | जीएसटी (GST) टैक्स को तीन तरह से विभाजित किया गया हैं | सीजीएसटी (CGST): सेन्ट्रल जीएसटी (Central GST) एसजीएसटी (SGST): स्टेट जीएसटी (State GST) आईजीएसटी (IGST): इंटीग्रेटेड जीएसटी (Integrated GST) वर्तमान में विभिन्न वस्तुओं और सेवाओं पर लगने वाली जीएसटी की दरे निम्न हैं: कोई टैक्स नहीं (No Tax) वस्तुएं (Goods) सभी तरह के सेनेटरी नेपकिंस, देवी-देवताओं की मूर्तियाँ (लकड़ी, मार्बल, या स्टोन), राखी (बिना किसी बहुमूल्य धातु की जैसे सोना, चांदी इत्यादि), साल की पत्तियां, नमक, फल, सब्जियां, ब्रेड, बिंदी, दही